Sunday, June 15, 2014

स्वस्थ संस्कारवान संतान को जन्म देना यहाँ से सीखें

देश के उज्वल भविष्य के लिए उत्तम संतानों को जन्म देना हर गृहस्थ का धर्म है
पत्नी के गर्भ धारण से भी 9 महीने पहले पति व् पत्नी को अपने शरीर और मन को योग व् प्राणायाम द्वारा शुद्ध करना शरू कर देना चाहिये क्योंकि शरीर और मन की शुद्धि में 9  महीने का समय लगता है | 9 महीने के  योग व् प्राणायाम के बाद महिला को गर्भ धारण करना चाहिये क्योंकि एक स्वस्थ, निर्मल,  संस्कारवान और शुद्ध दंपत्ति द्वारा ही स्वस्थ, तेजस्वी व् संस्कारवान संतान का जन्म होता है | पूरी जानकारी नीचे के विडियो से ले |
 

गर्भधारण से पहले और बाद के सोलह संस्कार 

 

गर्भवती महिलाओं के लिए योग भाग -1



गर्भवती महिलाओं के लिए योग भाग -2