Tuesday, December 21, 2010

भारत स्वाभिमान आन्दोलन के लिए सुझाव

This Post is for Bharat Swabhiman Andolan Members only
जब भी मैं देशप्रेम और समाज  सेवा की राह पर चलने की कोशिश करता हूँ तो मेरी यात्रा हर बार  भारत स्वाभिमान आन्दोलन  की तरफ मुड जाती है    -रविन्द्र कुमार 

 भारत स्वाभिमान आन्दोलन के लिए कुछ  सुझाव है : -
(1) एक पेज का (A4) साइज़ का व्यवस्था परिवर्तन का पत्र जारी करे (PDF फॉर्मेट में भी  ) क्योंकि इसको पढना , प्रिंटर से प्रिंट निकालना ,फोटोकॉपी करना ,  बांटना , दीवार पर चिपकाना आसान है. कृपया इसमें हिंदी के अंक (१२३४५६) के स्थान पर रोमन अंक (123456) लिखे  . हिंदी वाले अंक ज्यादतर युवा लोगो  को समझ नहीं आते . इसकी भाषा सरल और रुचिकर होनी चाहिये
 
(2) 20 CD का सेट केवल 442  MB साइज़ का है . और एक CD के कैपसिटी 700 MB होती है . इस लिए मेरा सुझाव है की 20 CD के ऑडियो एक CD में डाल कर भारत स्वाभिमान शंखनाद की एक

CD   भी जारी की जाए  
(3)  3०-6० मिनट का भारत स्वाभिमान का एक विडियो के भी जरूरत है जिसको प्रचार के लिए प्रोजेक्टर द्वारा दिखाया जा सके . ये विडियो युवा , 8 -12 क्लास के बच्चे , गाव के किसान, मजदूर  लोग , औरतो के लिए अलग अलग हो सकते है
4)एक केंद्रीय प्रचार समिति बनानी चाहिये जो पोस्टर , बेनर , सोल्गन , नुक्कड़ नाटक , कविता , प्रचार के लिए भाषण , PPT slides , उपलब्ध करवा सके ताकि उसी फॉर्मेट मैं कार्यकर्ता डाउनलोड कर के उसका प्रयोग कर सके .
5) प्रसिद्ध  लेकिन अच्छे चरित्र के लोगो जैसे एपीजे कलाम, सचिन तेंदुलकर आदि को भारत स्वाभिमान से जोड़ने का प्रयास करना चाहिये , इस से हमारी ताकत एक दम से बहुत बढ़ जायगी  क्योंकि इनके बहुत लोग प्रसंशक है .
6) http://www.rajivdixit.com/  पर आपके भाषणों में दिए गए डाटा का सबूत किरपा कर के डाल दे , प्रचार के दोरान लोग सबूत भी मांग लेते हैं . सबूत होने पर हमारा भी आत्मविश्वाश बढ़ जाता हैं .
 for eg. proof for 1Rs = 1$  in 1947 and agreement due to which we reduce the value of our currency .
proof for data like 84 Crore people are living on just 20 rs.( इस पर काम शरू हो चूका है)
7) समय समय पर भारत स्वाभिमान गूगल ग्रुप में हरिद्वार केंद्र में व्याप्त अव्यवस्थाओ की  बात सामने आती रहती है . कृपया अपना खुद की व्यस्था को ढीक करने की तरफ ध्यान दे नहीं तो जो लोग जुड़े हैं वो भी निराश हो जायंगे . और एक ऐसा सिस्टम develop करे जो बहुत ही पारदर्शी हो.
8)   शीकायतों  और सुझावों का एक विभाग बने और उन शीकायतों  और सुझावों  पर  क्या कार्यवाही की गयी या आपकी तरफ से क्या टिप्पणी आयी ये website से  चले. इस website में शिकायत एवं सुझाव पोस्ट करने के व्यस्था होनी चाहिये .  ( ये बहुत हे जरुरी है फीडबैक लेने के लिए )
9) पतंजलि चिकात्सल्यों पर भारत स्वाभिमान की स्लोगन वाली खादी की टी-शर्ट और कुरते भी बिक्री के लिए उपलब्ध करवाएं . ये भारत स्वाभिमान एवं खादी के प्रचार का अच्छा उपाय है . भारत स्वाभिमानी इनको पहन कर गर्व भी महसूस करेंगे . खादी ग्राम उद्योग से भी आप संपर्क कर सकते हैं इस बारे में .
10) एक ऐसा पोस्टर तयार करे जिसमे प्रतिदिन काम आने वाली स्वदेशी और विदेशी वस्तुओ के लिस्ट हो और नीचे स्वदेशी का प्रयोग क्यों जरुरी है ये समझाया हो . ऐसे पोस्टर भारत की गली मोहल्ले में हर दुकान पर चिपकाने के जिम्मदारी स्थानिय भारत स्वाभिमानियो की हो . पोस्टर का खर्चा हम स्वेदेशी कंपनियों  से स्पोंसर करवा सकते हैं . क्योंकि भारत स्वाभिमान से जुड़े बहुत से लोगो को ही इन कंपनियों के जानकारी नहीं होगी और अंजाने में  विदेशी सामान खरीदते रहते हैं फिर आम आदमी से ये कैसे ऊमीद करे के वो स्वदेशी सामान  ख़रीदेगा .

11) भारत स्वाभिमान का Internet TV शरू किया जाना चाहिये 


12) भारत स्वाभिमान का Internet Radio शरू किया जाना चाहिये


13) We need a website where we can keep all links and important  information discussed in Bharat Swabhiman Trust google group in an organized manner .

14) भारत स्वाभिमान आन्दोलन को भारत के सभी  (साढ़े छे लाख गावों ) में   हर गाँव में २ RTI एक्टिविस्ट ( सूचना का अधिकार के कार्यकर्ता ) , २ कंप्यूटर ओप्रटर ( वेब् सेवक )  , २ योग शिक्षक , २ सामान्य स्वयंसेवी  अध्यापक , तैयार करने के जरुरत है .  सूचना का अधिकार के कार्यकर्ता आपने गाँव में होने वाले भ्रस्टाचार पर नकेल कसेगा , कंप्यूटर ओप्रटर गाँव को पूरे भारत व् भारत स्वाभिमान ऑफिस से जोड़ेगा और सूचनाये आदान प्रदान करेगा , योग शिक्षक गावं के बच्चो और बड़ो को योग व् आयुर्वेद के जानकारी देगा . सामान्य स्वयंसेवी  अध्यापक गावं के बच्चो के समय निकाल कर पढ़ायेगा और भारत स्वाभिमान आन्दोलन के बारे में भी  जानकारी देगा

15) देश के सभी कॉलेज व् engineering कॉलेज के वेबसाइट से सभी अध्यापको का ईमेल  ले कर  उनको  इस आन्दोलन  की  जानकारी भेजी जाये , देश के सभी बड़े अच्छे चरित्र के अभिनेताओ , कवियों , लेखको , पत्रकारों को संपर्क कर के इस आन्दोलन के बारे में जानकारी दी  जाये .और उनको इस आन्दोलन से जुड़ने को कहा जाए

16) देश के सभी पतंजलि चिकित्सलायोमे 'रोज देखिये आस्था ८ बजे,संस्कार ९ बजे ' ऐसे पोस्टर लगाए जाये, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगो को पता चले. दुर्भाग्यवश अभी भी कुछा सज्जनों को पता ही नहीं.
17) भारत स्वाभिमान का वेबसाइट लिंक www .bharatswabhmantrust .org   सभी तरफ दिखाना चाहिए. योग्संदेश पत्रिका पर और संस्कार आस्था टी वी पर श्यामके प्रोग्राम में कही पर भी www .bharatswabhmantrust .org नहीं दिखाया जाता है. 18) क्या भविष्य मे हमारे संस्था द्वारा संस्कृत सीखाने वाला सीडी और  distance learning कोर्स शुरू किया जाना चाहिये  व्  संस्कृत को सरल देशीय भाषाओं के माध्यम से देश के लोगों के लिए उपलब्ध कराई जाए

19) स्वाभिमान ट्रस्ट का अपना एक निजी चैनल होना बहुत जरुरी है,

20) बाबाजी को z + सिक्यूरिटी प्रदान करने की मुहीम शरू की जानी  चाहिये (done )

21) संगठन के सभी पदाधिकारियों एवं सदस्यों के वर्तमान में किये जा रहे कार्यों और चरित्र कि भी नियमित समीक्षा कि जानी चाहिए|

22) सदस्यता की श्रेणी खत्म करें। एक बराबार के सदस्य की नीति लागू करें।

23) .संगठन में सक्रिया सदस्य में वरीयता दें।

24) राजनैतिक पार्टी के लोगों बचें।

25) जिन राज्य या जिलों में सदस्य कम हैं वहाॅ घर-घर जा कर सदस्य बनायें
और संगठन के बारें में बतायें। जहाॅ कार्य धीरें चल रहा हैं वहाॅ आस पास
के लोग मिलकर कार्य को गति दें।

26)  संगठन में कोई खुद को छोटा और बड़ा ना समझें यदि ऐसा कोई करता है तो इस
की सूचना प्रभारी को शीघ्र दें।

27) . यदि कोई व्यक्ति अपराधिक चरित्र का हों तो इस की सूचना बिना किसी देरी
के केन्द्रीय प्रभारी को दें जिससें ऐसे लोगों बाहर का किया जा सकें, ये
बहुत जरूरी है।

28).कुछ स्थानों पर सदस्यता देते समय 51 में घाटा और 1100
में लाभ बताया जाता है इससे सदस्य में मन में शुरू से ही लाभ और हानि का
बात में घूमनें लगती है।

29 ) संगठन का प्रभारी भी संगठन के सदस्यों के चुनाव से होना चाहिए.

30) यदि संगठन को सुचारू रूप से चलाना है तो शांतिकुञ्ज की तरह ही चलाया जाये | व्यक्ति के पैसे को महत्व न दे कर उसके बलिदान को महत्व दिया जाये |

31) भाई राजीव दिक्सित के भाषण के विडियो में उनकी बातो को  फ़िल्मी द्रश्यों से जोड़ कर देखाए जाए , जेसे जब वो ओर्गानिक खाद बनाना बताते हैं तो उसके बनाने की विधि को फिल्मा कर भाषण के साथ जोड़ दिया जाए , ताकि दर्शको को और आसानी से समझ आजाये

32)  जिस प्रकार सलमान खान ने अपने  NGO के प्रचार के लिए Being Human लेबल  के टीशर्ट बाजार में उतारी है और हर  जगह आप को ये टीशर्ट पहने लोग मिल जायंगे . इसी  तरह स्वदेशी के स्लोगन वाली टीशर्ट बाबा जी को मार्केट में उतारनी  चाहिये . मझे अगर ऐसी टीशर्ट मिले तो में भी  गर्व के साथ अपने ऑफिस में पहन कर जाऊं  और स्वदेशी का बिना कुछ किये ही खूब प्रचार करूँ .क्योंकि आते जाते हजारों लोगों के नजर टीशर्ट पर जायगी और लोगों को पता चलेगा के बाबा के समर्थकों की संख्या बढ़ रही है
 
33) जिस तरह फूटबाल के मैच के लिए "वाका वाका" वाले गाने के द्वारा  प्रचार किया गया और ये गाना सभी लोगों के जुबान पर चढ़ गया उसी तरह स्वदेशी पर एक  धमाके दार , संगीतमय गाना बनवाया जाये जो युवाओं की  पसंद को धयान में रख कर बनाया जाए .
 
34)  भारत स्वाभिमान के सदस्य बनाने के लिए नेटवर्क मार्केटिंग (copycat system  ) का प्रयोग किया जाये , ये इतना अदभुद तरीका है की सही तरीके के काम किया जाए तो एक साल में pure  bharat  के लोग भारत स्वाभिमान के सदस्य बन सकते हैं , इसी तरीके के आधार पर Amway नाम के कंपनी काम करती है . करना सिर्फ ये है के एक आदमी १५ दिन में सिर्फ ३ सदस्य बनाएगा और उनको भारत स्वाभिमान के उदेश्यों के  बारे में पूरी जानकारी देगा या भारत स्वाभिमान के ट्रेनिंग सेण्टर पर  ट्रेनिंग के लिए भेजगा और एक बात कहेगा की " जैसा में ने किया वैसा तुम भी  करो ", अब  ये तीनो लोग ३ और सदस्य बनायेंगे भारत स्वाभिमान के उदेश्यों के बारे में पूरी जानकारी देंगे  और उनको भी यही कहेंगे " जैसा में ने किया वैसा तुम भी करो ", इस तरह केवल एक साल में पुरे देश के लोग भारत  स्वाभिमान  से   जुड़ जायंगे .
 
35) आचार्य प्रदुमन जी के मार्ग दर्शन में संस्कृत भाषा सीखने के लिए आसान पाठ्यक्रम तयार  करवाया जाए और (DVD के रूप में )उपलब्ध करवाया जाये , अगर बाबा के १० करोड़ समर्थक भी संस्कृत सीख ले तो ये भी एक अलग ही क्रांति हो जायगी  भाषा के शेत्र में .  इसके अलावा  स्कूल व् कॉलेज के छात्र भी जहाँ संस्कृत पढाई जाती है इन  DVD को खरीद  लेंगे . पाठ्यक्रम को रुचिकर बनाया जाए .  संस्कृत भाषा सीखना के प्रेरणा मुझे इस लिंक से मिली , जरुर पढ़े एक बार http://uttishthabharata.wordpress.com/2011/04/20/sanskrit/
२. गीता सार भारत के सभी स्कूल व् कॉलेज में अनिवार्य रूप से पढाये जाने के लिए दबाव बनाया जाए
३. गीता सार की  DVD व् पुस्तक के रूप में उपलब्ध करवाए जाए
पाठको से अनुरोध है की वे भारत स्वाभिमान आन्दोलन से सम्बंधित अपने सुझाव इस पोस्ट के कमेंट्स में डाल दे